भजन सम्राट अनूप जलोटा जी की आत्मकथा ‘मेरी कहानी मेरी ज़ुबानी’ को लेकर संगीत प्रेमियों में उत्सुकता...

“मेरी कहानी, मेरी जुबानी…”


आज जब मैं अपनी बीती ज़िंदगी की ओर मुड़ कर देखता हूँ तो मन में बरबस कृतज्ञता का भाव जाग उठता है। कितने लोग, कितने प्रदेश, कितने विविध प्रकार के अनुभव! कभी कभी तो अचरज होता है – क्या एक इन्सान एक ही जीवन में इतने समृद्ध अनुभवों का भाग्य पा सकता है? क्या मैं

ख़ुशी और गम दोनों से भरा, साल का सबसे मुश्किल दिन


जिंदगी क्या है?  बस एक सफ़र आए, कुछ देर ठहरे और रवाना हो गए लेकिन बिना सच्चे हमसफ़र के, ये सफ़र मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।। मेरी प्यारी मेधा… तुम्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामना। कहते हैं, जिंदगी में ख़ुशी और गम, दोनों समान रूप से चलते रहते हैं, लेकिन जिसके साथ हम सबसे ज्यादा खुश

सफ़र प्रभातम का !


सफ़र प्रभातम का ! अपनी ही एयरलाइन सर्विस “Prabhatam  Fly Divine” से आज इंदौर से भोपाल तक का सफ़र तय किया। सफ़र करते वक्त दिल में बस यही  ख़याल आया कि छोटे शहरों में जल्दी और कम कीमतों में पहुचने के लिए प्रभातम की वायु सेवा सफल साबित होगी । भारत सरकार आज देश भर

अद्भुत है प्रकृति का संगीत

अद्भुत है प्रकृति का संगीत


पशु-पक्षी का संग तरुवर की छाया, अद्भुत है वो संगीत जो वन में पाया । अंतिम पंक्ति में, मैं दो शब्द “मन में” जोड़ रहा हूँ-अद्भुत है वो संगीत जो वन में “मन में” पाया (अंतस में पाया)। वन के, प्रकृति के इस अद्भुत संगीत को सुनने समझने के लिए, इसे अंतरतम में उतारने के

राम ते अधिक राम के दासा.


दुनिया चले ना श्रीराम के बिना… रामजी चलें ना हनुमान के बिना सहज सरल श्रीरामजी भक्तों के कष्टों को न केवल जानते हैं अपितु उनको महसूस करते हैं, और तत्क्षण उन्हें दूर करते हैं। सृष्टिकर्ता श्रीरामजी सम्पूर्ण विश्व के कल्याणकर्ता हैं। हमारा शुभ रामजी के बिना हो नहीं सकता, अतः सच ही है कि हमारा

श्रद्धांजलि : किशोरी अमोनकर


भारतीय शास्त्रीय संगीत गायिका किशोरी आमोनकर का मुम्बई में सोमवार (3 अप्रैल2017) देर रात निधन हुआ। संगीत के क्षेत्र में हुनर और मेहनत से सिक्का जमानेवाली किशोरी आमोणकर को उनके चाहने वाले ताई के नाम से भी जानते थे। किशोरी ताई जयपुर घराने की शिष्या थीं, जिन्होंने हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत में मेहनत से अपना परचम

श्रीरामजी जन्म दिवस पर हार्दिक बधाई


कोमल चित्त अति दीनदयाला , कारण बिनु रघुनाथ कृपाला … कोमलहृदय, दीनदयालु ,कृपानिधान भगवान श्री रामजी स्वभाव से ही अकारण सब पर कृपा बरसाने वाले हैं। आप उनकी शरण जाएँ, वे बिना भेदभाव के आप पर कृपा करेंगे। ऐसे सबका हित साधन करने वाले, सहज, सरल स्वभाव वाले भगवान श्री रामजी के प्राकट्य दिवस रामनवमी

संगीतमय प्रेमाभिव्यक्ति का मधुर अवसर


अकथ कहानी प्रेम की ,कछु कही न जाए। गूंगे केरी शर्करा, बैठे औ मुस्काए।। (प्रेम की महिमा अकथनीय है, यह शब्दों में अभिव्यक्त नहीं हो सकती। ठीक वैसे ही जैसे एक गूंगा व्यक्ति मीठा खाकर उसके आनंद का अपने शब्दों में वर्णन नहीं कर सकता।) प्रेम चाहे ईश्वर के प्रति हो, प्राणी मात्र के प्रति

Anup Jalota

शहीद दिवस


जो आदमी को इंसान बनाता है, जो आदमी को आदमी से जोड़ता है। वो है हमारा प्रेम आपस का, वो है हमारा प्रेम हमारे देश का॥ देश और देशवासियों के प्रति असीम प्रेम ने ही हमें क्रांतिकारी वीर शहीद भगतसिंह,राजगुरु और सुखदेव जैसे सपूत दिए. रामप्रसाद बिस्मिल, लाला लाजपतराय, सुभाष चन्द्र बोस जैसे त्यागी देशभक्त

follow us

Videos


Fatal error: Cannot use object of type WP_Error as array in /home/anupjalota/public_html/wp-content/plugins/youtube-channel-gallery/youtube-channel-gallery.php on line 952